पति ने रण्डी बनाया

मैं अपनी हॉट कहानी बता रही हूँ कि मेरे पति ने मुझे कैसे लंड की भूखी रंडी बनाया.मेरा नाम महिमा है, मैं हिमाचल प्रदेश की रहने वाली हूं, मेरी उम्र 24 साल है, मेरी शादी हो चुकी है. मेरे बदन का साइज़ 34 28 38 है, मेरे बूब्स बड़े और टाइट हैं मेरी गांड काफी बाहर निकली हुई है जिसे देख कर सबका लंड खड़ा हो जाता है.

मैं अपने पति से चुदाई रोज़ करती हूँ, वो भी मुझे खूब जम कर चोदते हैं लेकिन कुछ दिनों से मुझे अपने पति के लंड से मज़ा नहीं मिल रहा था लेकिन मैंने कभी कुछ नहीं कहा.पर वो समझ गए, एक दिन चुदाई के वक़्त कहने लगे- लगता है अब तुम्हें बड़े लंड की ज़रूरत है?

मैंने कुछ नहीं कहा.

अगले दिन चुदाई के वक़्त फिर वही बात कहने लगे, तब मैंने कहा- मुझे सिर्फ आपके साथ ये सब करना है और अब कभी ये सब मत कहना!लेकिन वो नहीं माने, कहने लगे- मेरा एक दोस्त है, वो जिगोलो है, उसके ग्रुप में पांच लड़के हैं, सबके लंड बड़े बड़े हैं और वो यही काम करते हैं. तुम कहो तो बात करूँ?

मैंने मना कर दिया लेकिन अब रोज़ चुदाई के वक़्त वो ये सब कहते और मैं कुछ नहीं कहती.

एक दिन उन्होंने कहा- आज अपने दोस्त से मैंने बात की है और उसने तुम्हारी फ़ोटो मांगी है नंगी!

मैंने कहा- मुझे ये सब पसंद नहीं है!लेकिन वो ज़बरदस्ती करने लगे कि सिर्फ तुम्हारी चूत और बूब्स का फोटो भेजूंगा.काफी ना नुकुर के बाद मैं भी मान गई और उन्होंने मेरी फ़ोटो उन लोगों को भेज दी.

तब मैंने पूछा- आपके दोस्त का नाम क्या है?

उन्होंने बताया- अजय… और उसी का लंड सबसे बड़ा है. उसने अपने लंड की फ़ोटो भी भेजी है, देखोगी?

मैंने मना कर दिया लेकिन वो ज़बरदस्ती मुझे दिखाने लगे.

तभी मेरी नज़र मोबाइल पर पड़ी, मेरे तो होश ही उड़ गए कि इतना बड़ा लंड भी होता है.

मेरे पति का मुश्किल से पांच इंच का होगा लेकिन ये तो उसका डबल से भी ज़्यादा है और बहुत मोटा भी!

मैंने कहा- कौन चुदवाती होगी इससे?

कहने लगे- पसंद आया?

मैंने कहा- नहीं, मुझे नहीं करना है!

उन्होंने कहा- एक बार चलो, तुम्हारी चूत की सारी गर्मी निकल जायेगी या तुम चुदाई छोड़ दोगी या फिर रंडी बन जाओगी. मुझे तुम्हें देखना है तुम कैसे दूसरे मर्द से चुदवाती हो!

मैंने कहा- आप बर्दाश्त कर लेंगे जब कोई आपके सामने आपकी बीवी को चोदेगा?

उन्होंने कहा- उस दिन का मुझे बहुत दिनों से इंतज़ार है!

मैंने कहा- जब आपकी यही तमन्ना है तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है!

सच कहूँ तो मैंने जब से वो लंड देखा था, मेरी चूत लगातार पानी छोड़ रही थी. उस रात मैंने खूब चुदवाया.

कुछ दिन बाद मेरे पति ने कहा- कल चलना है!

मैंने कहा- कहाँ?

तो बताया- अजय के पास… मेरी बात हुई है, मैंने कह दिया है अपने दोस्तों को बुला लेना!

मैंने कहा- क्या मुझे रंडी बनाने का इरादा है?

तो बोले- बन जाओ रंडी!

मैंने कहा- ठीक है. अब मुझे महिमा मत कहना, रंडी कहना! आज से मैं एक रंडी हूँ!

उन्होंने कहा- ठीक है!

अगले दिन मैंने अपनी चूत को अच्छी तरह साफ किया और चल पड़ी. हम लोग एक घर में पहुंचे, वहाँ पर 6 लोग हमारा इंतज़ार कर रहे थे.

इतने लोगों को देख कर मैं डर गई, मैंने कहा- चलिए, मुझे मरना नहीं है!

तब एक आदमी आया और कहने लगा- कुछ नहीं होगा, हम ज़बरदस्ती नहीं करेंगे, अगर

आपको कोई दिक्कत होगी तो आप चली जाना!

मेरे पति ने कहा- एक बार ट्राई कर लो, अच्छा नहीं लगेगा तो मत करना!

मैंने हाँ में अपना सर हिला दिया.

तभी मुझे पीछे मुझे कुछ चुभता हुआ महसूस हुआ, मैंने पीछे मुड़ कर देखा तो एक आदमी मेरे गांड में अपना लंड रगड़ रहा है और तीन लोग नंगे खड़े अपना लंड हिला रहे थे, सबके लंड लगभग बहुत लम्बे लम्बे और मेरी कलाई इतने मोटे थे.

मेरी तो हलक़ ही सूख गई उनके लंड देख कर… मेरा दिल बहुत ज़ोर से धड़कने लगा,

जिससे मेरी चूचियाँ ऊपर नीचे होने लगी.

तभी अजय ने कहा- क्या नाम है आपका?

मैं कुछ बोलने ही वाली थी कि मेरे पति ने कहा- महिमा!

फिर पूछा- क्या करने आई हो, पता है?

मेरे पति ने कहा- इसे रंडी बनाना है, इसे आज अपनी रंडी समझ कर इतना चोदो कि इसकी चूत और गांड दोनों खुल जायें!

गांड का नाम सुनते ही मैं चौंक गई क्योंकि मैंने आज तक कभी गांड नहीं मरवाई थी. मेरे पति कहते थे लेकिन मैं मना कर देती… लेकिन यहां तो आज मेरी गांड और चूत दोनों फटने वाली थी.

मैं यही सब सोच रही थी कि पीछे से किसी ने मेरी गांड को दबा दिया, मुझे बहुत डर लग रहा था.

तभी अजय ने कहा- महिमा जोशी… अपने कपड़े उतारो, आज तुम्हें असली चुदाई का मज़ा मिलने वाला है!
मुझे शर्म आ रही थी.

तभी मेरे पति ने मेरे कपड़े उतारने शुरू कर दिए. मैंने भी दिल में ये सोच लिया कि जो होगा देखा जाएगा… आज मज़ा ले लिया जाए!

मैंने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए. तब मैंने अजय से कहा- सब तो नंगे हैं, आपने क्यूँ नहीं कपड़े उतारे?
तो उन्होंने कहा- मैं बाद में उतारूंगा, तुम लोग शुरू हो जाओ!

तभी पांच आदमी मेरे पास आ गए और मुझे अपना अपना लंड पकड़ाने लगे. मैंने झिझकते हुए एक का लंड पकड़ा, मुझे लगा जैसे कोई मोटा बेलन हो… मेरे हाथ में नहीं आ रहा था और काफी गर्म भी था.

एक ने इशारा किया उसका लंड चूसने के लिए… मैंने झुक कर उसका लंड अपने मुँह में ले लिया सिर्फ उसका टोपा ही मेरे मुंह में जा पा रहा था.तभी एक पीछे से मेरी चूत को चाटने लगा और दूसरा मेरे बूब्स को पीने लगा. मैं तो जैसे हवा में उड़ने लगी, उसकी चटाई ऐसी थी कि मैं एक मिनट भी नहीं टिक पाई और झर गई, मेरी चूत से बहुत पानी निकलता है, लगभग आधा गिलास… और वो सारा पानी पी गया.

मेरा अब मुंह भी दर्द करने लगा था, मैं खड़ी हो गई. तभी अजय मेरे पास आया. वो भी नंगा हो गया था, उसका लंड सबसे बड़ा था.

मैं सोचने लगी कि आज पता नहीं ज़िंदा बचूंगी भी या नहीं!

मैं सोच ही रही थी कि सबने मुझे बेड पर चलने को कहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *