Uncle Ne Gand Fadkar Biwi Banaya

फिर अंकल ने मुझसे पूछा कि मेरी पत्नी थूक लगवाकर गांड की सील तुडवायेगी या तेल से या किसी और चीज़ से, तो में बोला तेल से, तो अंकल पहले से ही तेल लेकर आए थे। फिर उन्होंने बहुत सारा तेल उंगली पर डालकर मेरी गांड में लगाया। मुझे मज़ा आ रहा था और फिर अंकल ने अपने लंड पर तेल लगाया। फिर मुझे सीधा किया और मेरी दोनों टाँगें उठाकर अपने कंधे पर रखी और लंड को गांड के छेद पर टिकाया और बोले कि विशु कहो मुझे अपनी बीवी बना लो, अपनी बीवी की सील तोड़ दो। तो मैंने ऐसा ही कहा और मेरे इतना कहते ही अंकल ने मेरे होंठो को कसकर अपने होंठो में बंद किया और जोरदार धक्का मारा तो मुझे बहुत दर्द हुआ, लेकिन अंकल ने मेरे होंठो को नहीं छोड़ा में सिर्फ़ गूं गूं की आवाज़ें निकाल रहा था।

फिर अंकल ने मुझे कसकर पकड़ा और दूसरा जोरदार धक्का मारा। करीब आधा लंड अंदर जा चुका था, मेरी आँखों में आँसू आ गये, लेकिन अंकल ने मुझे छोड़ा नहीं और आहिस्ता-आहिस्ता धक्के मारने लगे, करीब 10 मिनट के बाद मेरे आँसू रुके तो अंकल ने मेरे होंठ छोड़े और बोले कि आज तुझे मैंने लड़के से लड़की बना दिया है और तुम मेरी बीवी बन गयी हो, मुझे बाहों में भरो विशु जान। मेरी गांड में बहुत दर्द हो रहा था और फिर भी मैंने हाँ में सिर हिला दिया और अंकल को बाहों में भर लिया। फिर अचानक से अंकल ने मुझे बाहों में भरा और आख़री जोरदार धक्का मारा तो मेरे मुँह से चीख निकल गयी उई मम्मी उई मम्मी में मर जाऊंगा, निकाल लो जान, मेरी गांड फट गयी। मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मेरी गांड में कुछ गर्म गर्म गिर रहा है और किसी ने गर्म सरिया मेरी गांड में डाल दिया हो। फिर अंकल ने थोड़ी देर के बाद धक्के लगाने शुरू किए, मुझे बहुत दर्द हो रहा था और में रो भी रहा था, लेकिन अंकल ने मुझे नहीं छोड़ा और वो मेरी गांड फाड़ रहे थे।

फिर करीब 10 मिनट के बाद अंकल की स्पीड तेज़ हो गयी और उनका गर्म गर्म वीर्य मेरी गांड में निकला तब जाकर अंकल ने मुझे छोड़ा और मेरी गांड को देखने लगे और मुझे चूमने लगे। फिर मेरे होंठो पर किस करके बोले कि आज मैंने अपनी बीवी की गांड की सील तोड़ दी है, आज से तुम मेरी बीवी बन गयी हो, तुम्हारे सारे काम अब औरतों की तरह होने चाहिए। फिर मैंने हाँ में सिर हिला दिया, मुझे उठा नहीं जा रहा था तो अंकल ने सहारा देकर मुझे उठाया। फिर मैंने देखा मेरी गांड के नीचे की चादर पर थोड़ा खून और तेल दोनों लगे हुए थे। फिर में रोने लगा तो अंकल ने मुझे चुप कराया और बोले तुम लड़की हो ना, तुम्हारी सील टूटी है तो खून तो निकलना ही था और मुझे प्यार करने लगे। फिर उन्होंने ही मुझे नहलाया और मेरी गांड की गर्म पानी से सिकाई की और मुझे कुछ गोलीयां दी।

फिर में शाम को घर पहुंचा तो मुझसे चला नहीं जा रहा था। पापा ने पूछा तो बहाना बना दिया कि में गिर गया था। फिर अगले दिन शाम को में अंकल के घर गया तो उन्होंने मुझे देखते ही बाहों में भर लिया और मेरे होंठो को चूसने लगे और मुझे गोद में उठाकर रूम में लेकर आए और मुझे तैयार होने के लिए कहा। फिर में उनकी बीवी की तरह तैयार हो गया। फिर उन्होंने मुझे खाने के लिए एक गोली दी तो मैंने गोली खा ली। फिर मुझे उल्टा लेटाकर मेरी गांड में भी उंगली से एक गोली डाली तो मुझे अजीब सा लग रहा था। फिर उन्होंने मेरी खूब कसकर गांड मारी। मुझे दर्द तो हुआ, लेकिन मज़ा बहुत आया, सबसे ज़्यादा मज़ा मुझे तब आया जब उनके वीर्य की धार मेरी गांड में पड़ी। फिर अपना वीर्य मेरी गांड में डालकर उन्होंने मेरी गांड के छेद पर टेप लगा दिया ताकि उनका वीर्य और गोली बाहर ना आए। फिर अंकल बोले इस टेप को करीब 2 घंटे बाद हटाना, लेकिन मुझे बहुत परेशानी हो रही थी। फिर करीब 1 घंटे के बाद मैंने टेप हटा दिया, तो अंकल बोले तुमने अपने पति की बात नहीं मानी है इसकी तुम्हें सज़ा मिलेगी और जो वीर्य मेरी गांड से टपक रहा था उसे चम्मच में इकट्ठा करने लगे।

फिर जब चम्मच भर गई, तो उन्होंने चम्मच मुझे पीने के लिए दिया तो में झट से पी गया। उसका टेस्ट कुछ खट्टा और नमकीन सा था। फिर 2 महीने तक पतिदेव (अंकल) ने मुझे गोली खिलाई और जब भी मेरी गांड मारते एक गोली गांड में डाल देते और टेप लगा देते। फिर 2 महीने के बाद मेरा शरीर लड़कियों की तरह हो गया मोटे-मोटे चूतड़ और मोटी गांड और छाती भारी-भारी, लंबे बाल, गुलाबी होंठ। में एक औरत बन गया था। आज 8 साल हो गये है मेरे पति मेरी खूब देखभाल करते है मुझे रगड़कर चोदते है, सच में उन्होंने मुझे एक औरत बना दिया है ।।

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *