रंडी क्लासमेट और उसकी रंडी रूममेट्स की चुदाई

दोस्तो, मेरा नाम रवीश कुमार है. आप लोगों ने मेरी पिछली कहानी
मेरी क्लासमेट कॉलगर्ल के रूप में मिली
को पसन्द किया औऱ बहुत सारे मेल किए. बहुत लोगों ने तारीफ की और कुछ लोगों ने मुझे सोनाली का दलाल बना दिया. प्लीज़ मुझसे सोनाली का मोबाइल नंबर मांगने के लिए मैसेज मत करो.

मैं सोनाली की चुदाई करने के बाद उसकी रूममेट की चुदाई के सपने देखने लगा. मैंने सोनाली को मिलने को बोला. उसने अपने फ्लैट पे डिनर करने को बुलाया. उसने मुझे अपने रूम पार्टनर की फोटो भेजी. वे दोनों देखने में खूबसूरत थीं. मैं तैयार हो गया और 8 बजे उनके फ्लैट पहुँच गया.

मैंने सोनाली को कॉल किया, तो उसने दरवाज़ा खोला, गले लग कर उसने मेरा स्वागत किया. फिर उसने मुझे अपनी सहेलियों से मिलवाया, एक का नाम था हिमिका, वो 24 साल की होगी. वो देखने में थोड़ी मोटी थी, उसके चुचे और गांड मस्त थे, लेकिन माल थी. उसने भी मुझे गले लगाया. दूसरी का नाम खुशी था, वो 20 साल की थी. वो भी देखने में मस्त थी. उसका फिगर बड़ा मस्त था, वो स्लिम थी. उसके चुचे की साइज 32 और गांड के पहाड़ 32 इंच के होंगे.

हम सभी लोग बात करने लगे. मैंने खाने को कुछ आर्डर किया और बियर भी मंगा लीं. थोड़ी देर में खाना आ गया.

हम लोग सब साथ में बैठकर बियर पीने लगे, सब पे नशा चढ़ने लगा. मैंने खुशी को पहले चोदने का सोचा … क्योंकि खुशी का फिगर बहुत मस्त था. मैंने खुशी को छूना शुरू किया. उसके बदन को सहलाने लगा और उसे किस करने लगा.

सोनाली ने मुझे रोक कर पूछा- सिर्फ चोदना है या पूरा मजा लेना है?
मैंने बोला- पूरा मजा लेना है.

उसने मुझे किस करते हुए मेरी शर्ट खोल दी. फिर हिमिका ने मखमल वाली हथकड़ी से मेरे दोनों हाथ बांध दिए.

अब मैं बिस्तर पे लेटा हुआ था, हिमिका ने मोबाइल पे गाना बजाया और सोनाली, हिमिका, खुशी तीनों डांस करने लगीं. वो तीनों बहुत सेक्सी अंदाज़ में डांस कर रही थीं. एक दूसरे को छू रही थीं, चिपक चिपक के डांस कर रही थीं.

मैं बिस्तर पर बंधा हुआ पड़ा था और उन तीनों की मस्ती को देख रहा था. मेरा लंड खड़ा हो गया था. डांस करते हुए तीनों एक दूसरे का चूचियां दबाने लगीं और एक दूसरे के कपड़े खोलने लगीं.

फिर हिमिका ने खुशी को किस करना शुरू कर दिया, दोनों एक दूसरे का भरपूर साथ दे रही थीं.

सोनाली ने मेरे पास आकर मेरी जीन्स को खोल दिया और डांस करने चली गयी. मेरा लंड 90 डिग्री पे खड़ा था परन्तु मैं मुठ भी नहीं मार सकता था क्योंकि मेरे हाथ बंधे हुए थे. मैं बस लेट कर तीनों का लेस्बियन सेक्स देखने लगा. हिमिका के चूचे बहुत बड़े थे. खुशी और सोनाली उसके मम्मों को एक साथ चूस रही थीं और उसकी चूत में उंगली भी कर रही थीं.

करीब 45 मिनट की लेस्बियन मस्ती और मुझे तड़पाने के बाद हिमिका मेरे पास आई और मेरा लंड मुँह में ले कर चूसने लगी.

मैं लेटा हुआ लंड चुसाई करवाता हुआ सोनाली और ख़ुशी का लेस्बियन सेक्स देख रहा था. दस मिनट लंड चुसवाने के बाद मेरा पानी हिमिका का मुँह में गिर गया. वो पानी को मुँह में रख कर सोनाली के पास गई और किस करते हुए सोनाली के मुँह में मेरा लंड रस दे दिया. सोनाली ने मेरे लंड का पानी अपने मुँह से किस करते हुए ख़ुशी के मुँह में दे दिया. ख़ुशी ने लंड के पानी को अपनी चूचियों पे गिराया और मुझे अपनी चूची चुसवाने लगी. मैं उसकी चुचियों को चूसते हुए अपने लंड रस को ही चूसने लगा. मुझे बहुत मजा आ रहा था.

दोस्तो, लेस्बियन सेक्स देखने में बहुत मजा आता है, कभी जरूर करना और डर्टी सेक्स में भी बहुत मजा है.

ख़ुशी मेरे ऊपर आ कर अपनी चूची चुसवा रही थी … तो मैं नीचे से उसकी चूत में लंड डालने की कोशिश करने लगा. सोनाली ने ये देखते हुए मेरे लंड पे कंडोम लगा दिया और खुशी को लंड पे बैठने का इशारा किया. ख़ुशी तुरंत मेरे लंड पर बैठ गयी और कूद कूद के चुदने लगी. मुझे बहुत मजा आ रहा था.

तभी हिमिका ने मेरे मुँह पे बैठ कर अपनी चूत चटवाना शुरू कर दिया. मैं लंड और जीभ से दोनों की चूत का मजा ले रहा था. फिर सोनाली ने मेरे आंड के नीचे पास वाली नस से खेलने लगी और सहलाने लगी. मैं मदहोश पड़ा मजे लेने लगा. दस मिनट मेरे लंड को चोदने के बाद ख़ुशी लंड से नीचे उतर गई और उसने मेरे हाथ खोल दिए.

अब मैंने ख़ुशी को नीचे लेटाया और उसके ऊपर चढ़ गया. उसकी चूत में लंड डाल कर मैंने उसे चोदना शुरू कर दिया. मैं ख़ुशी को पूरी तेजी में चोद रहा था … जिससे पूरा बिस्तर हिल रहा था और चट चट की आवाज़ आ रही थी.

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *