प्लेबॉय बनने के लिए चुत चुदाई का टेस्ट

दोस्तो, मैं मुहम्मद सैफ एक नई कहानी के साथ हाजिर हूँ. मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ. मैं अन्तर्वासना साईट का एक नियमित पाठक हूँ. मैं एक सुंदर और आकर्षक जिस्म का मालिक हूँ. मेरे लंड की लम्बाई 7 इंच और मोटाई 3.5 इंच है, जिसने कई लड़कियों और भाभियों की चूत को फाड़ कर उन्हें संतुष्ट किया है.

ये घटना अभी 2 साल पहले की है.
मैं मैकेनिकल इंजीनियर की पढ़ाई कर रहा हूँ. अभी मेरी ट्रेनिंग चल रही है तो मुझे अपने खर्च के लिए रूपये की जरूरत थी. क्योंकि जो रूपये मुझे घर से मिलते थे, उसमें मेरा गुजारा नहीं हो रहा था. फिर मैंने पढ़ाई के साथ साथ जॉब करने की सोची और काफी ढूँढने के बाद मुझे एक जॉब मिली, लेकिन उसमें भी मेरा खर्च पूरा नहीं हो रहा था… क्योंकि ये जॉब मुझे मात्र 15000 ही दे रही थी. फिर भी मैं काम करता रहा और इसी दौरान मेरी मुलाकात मेरे ही साथ काम करने वाले एक रोहित नाम के लड़के से हुई, जो कि जॉब के साथ साथ एक प्लेबॉय भी था.

एक दिन मैंने उसे अपनी प्रॉब्लम बताई तो पहले तो वह हँसा और कहने लगा कि मेरे पास तेरे लिए काम है. तू इतना स्मार्ट है और शरीर की फिटनेस भी ठीक है… इस पर भी तू परेशान है. तू साले गांड मरा के भी पैसे कमा सकता है.

मुझे उसकी ये बात सुनकर बहुत गुस्सा आया. मैंने उसे गाली देकर बोला- बहनचोद, अब यही काम बचा है… जब मैं छोटा और नासमझ था, तब से अपनी गांड बचाता आ रहा हूँ, आज जब समझदार हो गया तो इसे लुटा दूँ… बहन के लंड… सही नहीं बोलना है तो मत बोल.
वह बोला- अबे नाराज क्यों होता है मेरे भाई… मैं तो मजाक कर रहा हूँ.
मैंने कहा- ठीक है… पर मुझे ऐसा मजाक पसंद नहीं है.
उसने कहा- ठीक है… मैं अब ऐसे मजाक नहीं करूँगा.

मैं हंस दिया तो फिर उसने कहा कि आज जॉब से छूटने के बाद मैं तुझे किसी से मिलाऊंगा, वह तेरी प्रॉब्लम सॉल्व कर देगी.
मैंने कहा- ठीक है.

फिर हम दोनों जॉब से छूटने के बाद बाहर आए, मैं उसकी बाइक पर बैठ कर उसके साथ चल दिया. करीब 15 किलोमीटर जाने के बाद वह एक फार्म के सामने रुका.
मैं बोला- कहां लाया है भाई?
तो उसने कहा- बस तू चल… तेरी मंजिल आ गई.

उसने डोरबेल बजाई और सामने से एक लड़की ने दरवाजा खोला. रोहित ने उससे पूछा- मरीयम मैडम कहां हैं?
वह पहले तो लपक कर उसके गले लग गई और कहने लगी- बहुत दिन बाद आया यार… कहाँ था इतने दिन?
रोहित ने उसे चूमते हुए कहा कि यार जॉब में व्यस्त चल रहा था.
उसने पूछा कि ये जनाब कौन हैं?
रोहित ने बताया कि ये मेरे दोस्त हैं.
उसने मुस्कुराते हुए कहा- हैलो.
मैंने भी हैलो बोला.
उसने मेरे से हाथ मिलाया और कहने लगी- आप तो बहुत ही स्मार्ट और सेक्सी हैं.

यह कह कर उसने मेरा हाथ दबाया और आंख मार दी.
मैं उसके इस प्रतिक्रिया से एकदम से शॉक्ड हो गया.

फिर उसने बोला- मैडम नहा रही हैं. तुम लोग अन्दर बैठ कर इंतजार करो.

हम अन्दर आ गए और सोफे पर बैठ गए. फिर कुछ देर बाद मरीयम मैडम आईं. मैं तो उन्हें देखता रह गया, क्या लग रही थी यार… एकदम कयामत लग रही थी. उसके भीगे हुए खुले बाल कहर ढा रहे थे. इस वक्त उसने काले रंग की नाइटी पहनी हुई थी, जिसमें वह एकदम सेक्सी लग रही थी. उसकी उम्र 23 साल थी. उसका फिगर तो लाजवाब था यार उसके चुचे करीब 32 इंच के थे और उसकी कमर तो ऐसी बल खा रही थी कि साली अच्छे अच्छे की जान ले ले. उसकी कमर 26 इंच की थी और उसकी गांड के बारे में क्या बताऊं यार… साली की गांड देखते ही बहनचोद लंड तो पैंट फाड़ के बहर निकलने को तैयार हो उठा था. उसकी बहन की लौड़ी की गांड 34 इंच की उठी हुई एकदम तोप जैसी थी. उसको देखते ही मैंने अपने लंड को पैंट में एडजस्ट किया.

मरीयम मैडम ने रोहित से पूछा- आज कैसे रास्ता भूल गए जो हमारे घर पहुंच गए? और ये किस मेहमान को साथ लेकर आए हो, जिसका लंड मुझे देखते ही बेकाबू हो गया है. जो कि उन्हें बार बार ठीक करना पड़ रहा है.
उसकी बिंदास भाषा को सुनकर मैं हतप्रभ था. मैं शर्मा भी गया था और मैंने सर नीचे कर लिया.

रोहित ने उसे बताया कि यह मेरा दोस्त है, जो मेरे साथ काम करता है. ये मैकेनिकल इंजीनियर की पढ़ाई कर रहा है और जितना ये कमाता है, उसमें इसका खर्चा पूरा नहीं होता है.
तो उसने कहा- अच्छा ये बात है… ठीक है, तू जा… मैं समझ लूँगी.
रोहित उठ कर जाने लगा तो मैंने पूछा- तू कहां जा रहा है?
उसने कहा- काम हो गया है… अब तेरा इन्टरव्यू होगा.
यह कह कर वो चला गया.

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *