Payasi Aurat Ki Kahani

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम धीरज है और में एक इंश्योरेंस कंपनी में जॉब करता हूँ। मुझे इंश्योरेंस के काम से मुंबई में एक बड़े ऑफिस में जाना पड़ा, जहाँ बहुत सारी खूबसूरत लड़कियां और औरतें जॉब कर रही थी‌‍। मुझे वहीं एक रूम लेना ज़रूरी था, तो मैंने मेरे एक दोंस्त से बात कि तो उसने एक जगह बताई में वहाँ गया और वहाँ की मालकिन से बात कि तो उसने 2100 रुपये के किराए पर उसके फ्लेट का एक रूम मुझे किराए पर दिया। मकान मालकिन एकदम मस्त 30 साल की माल थी। वो एकदम सेक्सी दिख रही थी, उसका फिगर 36-28-38 था और उसकी हाईट 5 फुट 1 इंच थी। रंग गोरा था और वो दिखने में हिन्दी फिल्म की हिरोईन जैसी औरत थी। मैंने उससे खाने के बारे में पूछा तो उसने मुझे बताया कि वो खुद रात के खाने का इंतज़ाम कर सकती है।

फिर भी मैंने उसे देखकर रूम बुक कर लिया और में वहाँ जल्दी से शिफ्ट हो गया। फिर बातचीत के दौरान मुझे समझ आया कि वो वहाँ अकेली ही रहती है और उसका कोई बच्चा नहीं है। उसका पति जो कि एक कंपनी में जॉब कर रहा था वो उसे 12 साल पहले तलाक़ दे चुका है और वो एक महिला गृह उधोग में काम कर रही है। अब मेरा रोज का काम ठीक चल रहा था, में मेरे रूम में बहुत टाईप की ड्रिंक्स का पूरा मज़ा लेता था और पॉर्न मूवी भी देखता था। फिर मेरे पास के ऑफिस में चंदा नाम की एक आईटम औरत काम करती थी। मेरा सम्पर्क हमेशा उससे होता रहता था और रात को में उसके नाम से मुठ मारा करता था।

एक दिन में काम से 4 दिनों के लिए दिल्ली चला गया। उन दिनों मेरी मकान मालकिन पूनम ने मेरा रूम सॉफ करते वक़्त वो सभी ब्लू फिल्म की सीडी देख ली और वो उनको देखकर गर्म हो गई थी। जब में वापस लौटा तो मैंने उसके व्यवहार में चेंज देखा। वो अब मेरे रात के खाने का पूरा ख्याल रख रही थी। फिर एक हफ्ते के बाद उसने मुझे डोर के होल में से मुठ मारते देख लिया और दूसरे दिन मुझसे बहुत फ्रेंकली होकर बातें करने लगी। फिर उसने मुझे सीधे से उसके शरीर की प्यास की प्रोब्लम बताई। वो जहाँ काम करती थी वहाँ उसे सभी औरतें ताई बुलाती थी और उनका बूढा बॉस सभी खूबसूरत औरतों को अपने कैबिन में बुलाकर उनकी जवानी का मज़ा लेता था। एक दिन पूनम मेरे रूम में आई और पूनम ने कहा में एक औरत हूँ और मेरी ज़िंदगी सूनी है। मेरा पति तो मेरे साथ नहीं है, में कब तक अकेली रात गुजारुँगी, मुझे एक साथी चाहिए जिससे में अपनी हर बात कह संकू, मेरे भी कुछ अरमान है। में जाने कितने दिनों से तड़प रही हूँ, प्लीज़ आज की रात मुझे अपना बना लो, इतना कहकर वो मुझसे लिपट गयी।

फिर हम किस करने लगे और मैंने पूनम का कुर्ता उतारा, ओह्ह्ह माई गॉड क्या बूब्स थे? में पहली बार उसके बूब्स देख रहा था। उसने रेड कलर की ब्रा पहन रखी थी और फिर मैंने बूब्स को दबाना शुरू किया और किस किया और फिर उसकी ब्रा उतारी और बूब्स को चूसने लगा। इतने में पूनम ने मुझे पूरा नंगा कर दिया और मेरे लंड को मुँह में डालकर चूसने देने लगी। मुझे बहुत ज़्यादा मज़ा आ रहा था। फिर मैंने उसको पूरा नंगा किया और उसकी पेंटी भी उतार दी। पूनम की चूत एकदम क्लीन शेव थी। फिर मैंने उसकी चूत चाटना शुरू किया और फिंगरिंग भी की तो थोड़े समय बाद पूनम ने झड़ना शुरू कर दिया और पूनम बोली कि धीरज आई लव यू। आज से तुम मेरे मर्द हो और जब तुम चाहों मुझे आकर चोद सकते हो।

फिर मैंने पूनम को बेड पर लेटा दिया और उसके शरीर को ऊपर से नीचे तक चाटने लगा। उसकी चूत के छेद में उंगली डालकर उसे चोदता रहा। पूनम बोली अब और मत तड़पाओ मुझे, अब मुझे चोद दो में बहुत प्यासी हूँ। फिर में अपना लंड पूनम की चूत में डालने लगा और पहले ही झटके में लंड अंदर नहीं गया। अब पूनम मौन करने लगी, अहह्ह्ह्हह ओह्ह्ह्ह धीरज देखो बेचारी मेरी चूत कैसे तुम्हारे लंड के लिए तड़प रही है? आओ ना उसकी प्यास बुझाओ मेरे राजा, अब नहीं सहा जा रहा। आओ ना चोदो मुझे और मैंने तुरंत उसके होठों पर मेरे होंठ रख दिए। फिर पूनम ने मेरे लंड को पकड़ा और चूत पर रखा और कहा हाँ अब डालो अंदर जल्दी से मुझसे रहा नहीं जा रहा है। फिर मैंने भी कुछ नहीं सोचा और ज़ोर का झटका मारा और आधा लंड उसकी चूत को चीरते हुए घुसेड दिया, फिर में उसे धीरे-धीरे चोदता रहा। फिर पूनम बोली कि धीरज धीरे करो, तो मैंने एक और झटका मारा तो पूनम ज़ोर से चिल्ला उठी अहह धीरज दर्द हो रहा है।

Pages: 1 2 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *