पेड सेक्स में दिया परम आनन्द

एक नए अहसास के साथ मैं आप सभी का स्वागत करते हुए अपनी बात लिख रहा हूं.

मेरी पिछली कहानी पढ़ कर आप सभी बहुत सारे मुझे मेल आए. कुछ दोस्तों ने लिखा कि उस रांची वाली मैडम का नंबर दे दो, नाम बता दो … वगैरह वगैरह. मैं अपने उन सभी पाठकों से कहना चाहता हूं कि यह नामुमकिन है. मुझसे जो भी जुड़े हैं या मैं जिनसे भी मिला हूं, मैं उनकी गोपनीयता भंग नहीं कर सकता हूँ.

ये कहानी वहीं से शुरू हुई है … जब मुझे पिछली कहानी के दो ईमेल आए थे. मैं यहां इस कहानी में पहली वाली ईमेल की जिक्र कर रहा हूं. जिस लड़की का मेल आया था, मैं यहां उस मैडम का काल्पनिक नाम यूज करूंगा, क्योंकि यह कहानी मैं उन्हीं की परमिशन लेकर यहां पर लिख रहा हूं. जब मैंने उनसे इस कहानी को अन्तर्वासना पर लिखने की बात कही, तो उन्होंने शर्माते हुए मुझे हां तो कह दी, लेकिन बोला कि उनका ओरिजिनल नाम इस्तेमाल ना करूं. इसलिए यहां उनका नाम मलीहा रख लेते हैं.

अब मैं बताता हूं कि उनका जो ईमेल आया था. उस मेल में मलीहा ने मेरी कहानी का जिक्र किया और मुझे बधाई भी दी. मेरे सेक्स करने की नजरिए की तारीफ भी की. उस मेल का जवाब देते हुए मैंने भी उन्हें शुक्रिया अदा किया. बात यहीं खत्म हो गई.

फिर कुछ दिन बाद उनकी एक और ईमेल आई. ये मेल करीब एक हफ्ते बाद आई थी. उस मेल में उन्होंने लिखा कि मैं आपके बारे में ही सोच रही थी. मैं आपसे एक बात करना चाहती हूं. क्या पूछ सकती हूँ? मैं आपके उत्तर का इन्तजार करूंगी.

उस वक्त वो मुझे ऑनलाइन दिख रही थीं.
मैंने जवाब में लिखा- हां हां … क्या बात है बोलिए?
उन्होंने बोला- यहां लिखने में हिचकिचाहट होती है. कहां से स्टार्ट करूं कैसे कहूं, क्या आप मुझे अपना फोन नंबर दे सकते हैं.

मैं थोड़ा सकते में आ गया. किसी अनजान व्यक्ति से मैं अपना नंबर शेयर करना मेरे लिए थोड़ा कठिन था.

शायद मलीहा ने मेरी इस हिचकिचाहट को पहचान लिया. उन्होंने कहा- आप मुझ पर थोड़ा ट्रस्ट कर सकते हैं. मैं आपकी इस हिचकिचाहट से समझ सकती हूं. धीरे धीरे जब हमारी बातें होने लगेंगी, तो आपके मन की सारी दुविधाएं दूर हो जाएंगी.

फिर मैंने कुछ सोच कर अपना नंबर उन्हें दे दिया. रात में करीब 10:00 बजे मुझे किसी अनजान नंबर से फोन आया. वैसे मैं अनजान नंबर से फोन उठाता नहीं हूं. जब उसी नम्बर से दो बार फोन आया, तो मैंने फोन साइलेंट कर दिया.
फिर उन्होंने टेक्स्ट मैसेज किया- विक्की जी ये मैं बोल रही हूं, फोन उठाइए.

ये मैसेज देखने के कुछ देर बाद फिर उनका फोन आया, तो मैंने रिसीव किया. उधर से बहुत ही मीठी सी आवाज आई- नमस्कार विकी जी …
मैंने भी नमस्कार करते हुए उनका नमस्ते स्वीकार किया और औपचारिक रूप से फोन में शुरूआती बातें होती हैं.

मैंने वह सब पूछते हुए उनसे पूछा- आप कैसे हैं, कहां से हैं?
उन्होंने बताया- मैं लखनऊ से हूँ.
मैंने भी लखनऊ शहर की कुछ शान में कुछ कहा. इसके बाद मैंने उनकी आवाज की तारीफ की कि आपकी आवाज बहुत सुरीली है.
उन्होंने धन्यवाद कहा.

फिर मैंने उनसे पूछा- बताइए कैसे फोन किया?
पहले तो उन्होंने भी मेरा हाल समाचार पूछा और हिचकिचाते हुए बोला- जब से आपकी कहानी पढ़ी है, पता नहीं क्यों आपके बारे में ही सोच रही हूं.
मैंने उन्हें धन्यवाद करते हुए पूछा- क्या सोच रही हैं … निसंकोच कहिए.
फिर उन्होंने तुरंत कहा- क्या आप मुझसे मिल सकते हैं.

मैं एकदम से हक्का बक्का रह गया. मैंने पूछा- इतना जल्दी … मैं आपको न जानता हूं … ना मैंने आपको देखा है. फिर कैसे?
उन्होंने कहा- आपका व्हाट्सएप नम्बर यही है क्या?
मैंने बोला- हां.

उन्होंने मेरे व्हाट्सएप पर थोड़ी ही देर में अपनी कुछ फोटो भेज दीं. फोटो में वह बहुत अच्छी लग रही थी. मुझे 35 से 38 की उम्र की लग रही थीं और बहुत खूबसूरत लग रही थीं.

थोड़ी देर बाद उनका फिर से कॉल आया. उन्होंने पूछा- कैसी लगीं मेरी फोटो … जो मैंने भेजी हैं?
मैंने बोला- मलीहा जी, आप तो बहुत ही मस्त लग रही हैं … बिल्कुल किसी मॉडल की तरह हैं.
इस पर उन्होंने धन्यवाद कहते हुए कहा कि अरे नहीं मैं इतनी भी सुन्दर नहीं हूँ. आपने तारीफ़ की, उसके लिए आपका शुक्रिया.

मैंने उनसे पूछा- आपकी फिगर क्या है?
उन्होंने बोला कि यह फोटो देखकर अंदाजा लगाइए.
मैं- फोटो देखकर कैसे अंदाजा लगाया जा सकता है?
फिर भी मैंने उनके जोर देने पर बोला कि मुझे तो 32-28-36 का फिगर लगता है.
उन्होंने कहा- आपका अंदाजा लगभग सही है.

मैंने लगभग का मतलब पूछा, तो उन्होंने बोला कि ऊपर 2 इंच ज्यादा है.

मैं हंस दिया. हमारी बातें इसी तरह होती रहीं. मैंने उनसे पूछा कि आप मुझसे क्यों मिलना चाहती हैं?
वो इस बात पर बड़ी बिंदास बोल रही थीं. वो बोलीं- मुझे आपसे सेक्स करना है … इसीलिए मुझे आपका कुछ टाइम चाहिए. मैं बहुत अकेली हो गई हूं.

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *