चुद गई ऑफिस गर्ल

मैंने माधुरी को बताया काफी दिनों बाद ऑफिस जाना अच्छा रहा चंदन जी ने ऑफिस बड़े ही अच्छे तरीके से संभाल रखा है। चंदन जी से मेरी पहली बार मुलाकात तब हुई थी जब मैं जॉब करता था वहां पर मुझे उनके अंदर जो काबिलियत दिखी तो मैं उनका फैन हो गया और मैं चाहता था कि वह मेरे साथ ही काम करें। जब मैंने अपनी कंपनी की शुरुआत की थी उस वक्त से ही वह मेरे साथ जुड़े हुए हैं और आज 15 साल पूरे होने आए हैं लेकिन चंदन जी ने कभी भी मुझे कोई शिकायत का मौका नहीं दिया और हमेशा ही उन्होंने पूरी मेहनत के साथ काम किया है। अगले दिन भी मैं ऑफिस में गया तो मैंने देखा ऑफिस में नई रिसेप्शनिस्ट आई हुई थी मैंने चंदन जी से पूछा यह नई रिसेप्शनिस्ट कब आई। वह कहने लगे कि इसे आये तो 10 दिन हो चुके हैं मैंने उन्हें कहा जो पहले काम करती थी वह लड़की कहां चली गई। वह कहने लगे कि उसकी शादी हो चुकी है इसलिए मुझे नई लड़की ऑफिस में रखनी पड़ी मैंने कहा चलिए कोई बात नहीं। उस दिन भी मेरा ऑफिस में बहुत अच्छा समय बीता मैं शाम के वक्त घर लौट आया अब धीरे धीरे मैं ठीक होने लगा था। अब मैं पूरी तरीके से ठीक हो चुका था मेरे ऑफिस में एक नई लड़की आई हुई थी उसे देखकर मुझे मेरी पुरानी गर्लफ्रेंड की याद आ जाया करती थी। मेरे सामने मेरे बीते हुए पन्ने जैसे दोबारा से खुलने लगे थे उसका नाम संजना है। मै संजना के ऊपर कुछ ज्यादा ही मेहरबान होने लगा था वह भी अब मेरे इरादे समझने लगी थी तो आखिरकार उसने मुझसे कह दिया सर आप मुझ पर कुछ ज्यादा ही मेहरबान रहते हैं। मैंने उसे बताया कि हां मुझे तुम अच्छी लगती हो तुम बिलकुल मेरी गर्लफ्रेंड की तरह दिखती हो इसीलिए मैं तुम पर कुछ ज्यादा ही मेहरबान हूं।

वह भी अपने आपको मेरे पास आने से ना रोक सकी हालांकि वह बहुत ज्यादा जवान है लेकिन उसके बावजूद भी वह मेरे साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए तैयार हो गई। मेरे लिए तो यह खुशी की बात थी क्योंकि मैं छरहरे बदन की लड़की को चोदने वाला था। मै पूरी तरीके से ठीक हो चुका था मेरे पास जब संजना आती तो मैं उसे अपने पास बैठा लेता और उसे छू लिया करता वह भी खुश हो जाया करती थी आखिरकार एक दिन वह मुझे कहने लगी सर आप मुझे कभी अपने साथ लॉन्ग ड्राइव पर ले चलिए। मैं उसे अपने साथ लॉन्ग ड्राइव पर ले गया जब वह मेरे साथ लॉन्ग ड्राइव पर आई तो मैं खुशी से झूम उठा और जैसे ही मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो संजना ने उसे अपने मुंह के अंदर ले लिया और उसको वह चूसने लगी। मुझे बहुत अच्छा लग रहा था संजना भी बहुत ज्यादा खुश थी काफी देर तक उसने मेरे लंड को चूसा जैसे ही मेरे अंदर से उसने मेरी पूरी जवानी को बाहर निकाल दिया तो मैंने भी उसे कहा चलो कहीं रुकता है। वह रूकने के लिए कहने लगी और हम लोग एक होटल में चले गए जब हम लोग वहां पर गए तो मैंने संजना को बिस्तर पर लेटा दिया।

मैने उसे कहा अब तुम मेरे लंड को चूस लो वह मेरे लंड को बड़े ही अच्छे तरीके से चूस रही थी और उसे बड़ा मजा आ रहा था। मुझे भी बहुत अच्छा लगता जिस प्रकार से संजना मेरे लंड को चुसती उससे मैं पूरी तरीके से मचलने लगा। मैंने संजना को नंगा कर दिया और उसकी योनि को चाटते हुए उसकी योनि के अंदर मैंने अपने मोटे लंड को प्रवेश करवा दिया जैसे ही मेरा मोटा लंड उसकी योनि में प्रवेश हुआ तो वह चिल्ला उठी। उसकी टाइट चूत मैं मेरा लंड जाते ही उसे बड़ा मजा आया मैंने उसके दोनों पैरों को कसकर पकड़ लिया। मैं उसे बड़ी तेज गति से धक्के दिया जा रहा था जिस प्रकार से मैं उसे धक्के मारता उसे वह भी बहुत उत्सुक होने लगी थी। वह मुझे कहने लगी आप मुझे और तेज धक्के दो मैं उसे कहने लगा तुम अपनी चूतडो को मेरे सामने कर लो मैं तुम्हें बड़ी तेजी से चोदूंगा। उसने अपनी चूतडो को मेरे सामने कर दिया और मैने उसे बड़ी तेज गति से धक्के दिए जिससे कि मै बिल्कुल भी ना रह सका जैसे ही मेरा वीर्य उसकी योनि में जा गिरा तो वह भी खुश हो गई।

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *