कुंवारी लड़की की सील कैसे तोड़ी

मेरे प्यारे दोस्तो, कैसे हो आप सब!
आज मैं आपके लिए दिल छू लेने वाली एक कहानी लेकर आया हूँ जो कि कुछ समय पहले ही घटित हुई है.

हुआ यूं कि मेरी एक पुरानी कहानी
भरपूर प्यार दुलार के साथ कुँवारी सील तोड़ी
पढ़कर किसी रितिका नाम की लड़की का मेल आया मेरी मेल आईडी पर!

उसने लिखा था- देखो, मैं सीधी बात करना पसंद करती हूँ, मैंने आपकी सेक्स स्टोरी पढ़ी है जो मुझे काफी अच्छी लगी और मैं आपके साथ सेक्स का अनुभव लेना चाहती हूँ. मैंने अभी तक सेक्स नहीं किया है, मैं अक्षतयौवना हूँ. क्या आप मेरे से बात करोगे ताकि मैं अपनी सील तुड़वाने सम्बन्धी जानकारी प्राप्त कर सकूं।
इस प्रकार मेल पर हमारी बात शुरू हो गयी.

मेरे पूछने पर उसने बताया- मेरा नाम रितिका है और मैं देहरादून के एक इंजीनियरिंग कालेज के हॉस्टल में रहकर अपनी पढ़ाई कर रही हूँ और मैं पहली बार सेक्स करके अपनी सील तुड़वाना चाहती हूँ और दो तीन दिन आपके साथ बिताकर प्यार करना चाहती हूँ. क्या आप मेरी हेल्प करोगे? मेरा व्हाटसअप नंबर ये है प्लीज़ मैसेज मी! आई एम वेटिंग योर रिस्पांस.

यह मेल पढ़कर मैंने रितिका को मैसेज किया- हेल्लो!
और उसके भेजे मेल का स्क्रीनशॉट लेकर भेज दिया.
उसका तुरंत रिप्लाई आया- धन्यवाद! आप कैसे हो?
मैं- मस्त … आपकी उम्र क्या है? और प्लीज़ सेंड मी अ पिक ऑफ़ योर्स!

रितिका ने अपनी फोटो भेज दी. उसकी फ़ोटो देखकर में दंग रह गया. रितिका बहुत ही सेक्सी नजर आ रही थी और उसका फिगर कमाल का लग रहा था.
और रीतिका ने बताया कि वह अठारह साल की है.
उसने आगे बताया- होली पर मेरी चार दिन की छुट्टी है और मैं घर ना जाकर सेक्स लाइफ एन्जॉय करके देखना चाहती हूँ.
मैंने भी तुरंत हाँ कर दी और बोला- रितिका, मैं तुम्हें भरपूर प्यार दूंगा. मैं तेरे हर अंग को प्यार करना व चूमना चाहता हूँ. मेरी जीभ तेरे पूरे बदन को फील करना चाहती है।

इस प्रकार हमारी काल पर बात हुई और होली की छुटियों में मेरा और रितिका ऋषिकेश में सेक्स करने का प्लान बना. रितिका ने हॉस्टल से छुट्टी ली और मुझे कॉल कर दिया- जान, आई एम कमिंग ऋषिकेश फ़ॉर माय फर्स्ट फकिंग!
मैं बोला- रितिका मेरी जान, जल्दी आओ, मैं तो कब से तेरा इंतजार कर रहा हूँ.

लेकिन उसने मेरे सामने एक शर्त भी रख दी- चार दिन के लिए मैं आपकी रहूँगी, उसके बाद आप मेरे साथ कॉन्टैक्ट नहीं रखोगे.
मुझे भाला इस बात पर क्या ऐतराज हो सकता था, मैंने भी हाँ कर दी और तय किये गए समय पर उसे ऋषिकेश बस स्टैंड पर लेने चला गया.

और जब मैंने उसे देखा … तो देखता ही रह गया. वो बिल्कुल आलिया भट्ट की तरह मस्त लग रही थी. उसेक कामुक शरीर को देख कर जीन्स में ही मेरा लंड तनकर खड़ा हो गया.
मैंने पहले ही ऋषिकेश होटल बुक कर रखा था, रितिका से मिलते ही मैंने उसे हग किया और फिर सीधे होटल पहुंच गए.
कमरे में जाकर मैं बेड पर बैठ गया और मैंने रीतिका को अपने पास बुलाया. वो मेरे सामने बैठ गयी और थोड़ी बहुत बातें की हमने!

फिर रितिका ने मेरी गोद में सिर रख लिया और मैं उसके बालों को सहलाने लगा और उसके चिकने गालों पर हाथ फिराने लगा. इस सब से ही वो गर्म होने लगी. लेकिन मैंने जल्दी करना उचित नहीं समझा.
फिर हम उठे और कुछ देर गंगा नदी के किनारे टहलकर वापिस आ गए। अब कुछ बातें करने से मैं और रितिका आपस में खुल चुके थे.

मैंने रितिका से कहा- आज तो आपकी चुत का रिबन कटने वाला है.
रितिका- प्लीज़ बिल्कुल प्यार से करना, मैंने आज तक किसी लड़के को किस तक नहीं किया है. और आपकी एक कहानी पढ़ी थी कि आप प्यार से सील तोड़ते हो, बूब्स और चुत मजे से चूसते हो, एक बार चुदाई के बाद दोबारा आपसी सम्पर्क नहीं रखते इसलिए बहुत ज्यादा विश्वास करके डरते डरते आपके पास आई हूं।
मैंने रितिका के बालों पर हाथ फेरते हुए माथे पर चूमा और बोला- मेरी जान, तुम जरा भी टेंशन मत लो, मैं बिल्कुल प्यार से करूँगा.
तो वो हैप्पी हो गयी.

रितिका नहाने के लिए बाथरूम में घुस गई और जैसे ही वो बाहर आई, मैंने उसे गोद में उठा लिया उसके गीले बालों से पानी की बूंदें मेरे ऊपर गिर रही थी.
मैंने उसे बेड लिटा दिया और उसके साथ लिपलॉक किसिंग करने लगा. करीब सात आठ मिनट हम एक दूसरे की आंखों में देखते हुए किस करते रहे.
फिर हम जीभ से जीभ लड़ाने लगे और एक दूसरे के लिप्स पर घुमाने लगे. उस समय जो मजा और फीलिंग आ रही थी, उसे शब्दों में ब्यान करना मुश्किल है.

अब मैंने उसका टॉप उतार दिया और अपनी टीशर्ट भी निकाल दी, मैं उसकी गर्दन और कानों के पास चूमने लगा. मेरा पेनिस खड़ा होकर उसकी पूसी पर दवाब बना रहा था, वो पूरी तरह गर्म हो चुकी थी और अपने दोनों पैर मेरी कमर के बाहर लपेट रखे थे।

Pages: 1 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *