Category «अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज»

आपके प्यार ने अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ हिंदी सेक्सी स्टोरी साईट बना दिया है।
यहाँ आपके द्वारा भेजी रोमांटिक, सच्ची, कपोल कल्पित चुदाई की कहानी प्रकाशित होती हैं।

जवानी की प्यास पड़ोसी लड़के से बुझायी

मेरे प्रिय दोस्तो, मेरा नाम रितिका सैनी है यह मेरी तीसरी कहानी है अगर आपने मेरी पिछली कहानी स्कूल में पहला सेक्स किया हैंडसम लड़के को पटाकर हैंडसम लड़का पटाकर चूत चुदाई के बाद गांड मरवायी नहीं पढ़ी तो जरूर पढ़ लें. आपको यह कहानी पढ़ने में आसानी होगी. अब आगे: मेरे पति रवि चुदाई …

बॉस ने खोली कुंवारी पंजाबन की चूत

प्यारे दोस्तो, आप सभी को मेरा नमस्कार! मेरा नाम जसदीप कौर है व उम्र 24 साल है. मैं ठेठ पंजाब के मोगा ज़िले में एक गाँव से हूँ. मैंने अपनी पढ़ाई कम्प्यूटर्स में की थी, इसलिए मुझे कॉलेज में टीचर की नौकरी मिल गयी थी. लेकिन इस नौकरी से मैं कुछ खुश नहीं थी. मैं …

जंगल में बहन ने भाई की प्यास बुझाई

दोस्तो, मेरा नाम रोमेश है, मैं छत्तीसगढ़ के बैलाडिला का रहने वाला हूँ. मेरे घर में मेरे अलावा मम्मी पापा एक छोटा भाई और बहन रहते हैं. मेरी बहन की शादी 13 महीने पहले पास ही के गाँव में हुई है. ये बात करीब दस महीने पहले की है, तब हमारे दादाजी जीवित थे. वे …

क्लासमेट की मां चोद दी

बात तब की है जब मैं और कुलजीत कक्षा 12 में पढ़ते थे. कुलजीत की अभी दाढ़ी नहीं निकली थी. चिकना और गोल मटोल था. चूतड़ ऐसे कि गांड मारने को उत्तेजित करते थे. वह मेरे घर के पीछे वाली गली में रहता था. मैंने कई बार उससे कहा कि मुझसे गांड मरा लो तो …

कैसे सील तोड़ी कभी भूल नहीं पाऊंगी

Antarvasna, hindi sex story: निर्मला दीदी मुझे कहने लगी कि काजल तुम मेरे साथ मार्केट चलो ना मैंने काफी दिन से शॉपिंग नहीं की है। मैंने निर्मला दीदी से कहा दीदी लेकिन मैं आपके साथ कैसे चलूंगी अभी तो मैं कॉलेज से लौटी हूं तो दीदी कहने लगी कि नहीं तुम मेरे साथ चलो ना। …

चूतड़ों का रंग बदल डाला

kamukta: मैंने अविनाश से कहा अविनाश क्या तुम मेरे साथ मुंबई चलोगे तो अविनाश मुझे कहने लगा लेकिन भैया मैं आपके साथ मुंबई जाकर क्या करूंगा। मैंने अविनाश से कहा तुम मेरे साथ चलो तो सही तुम्हें मुंबई में अच्छा लगेगा मैं अपने काम से मुंबई जा रहा था। मुझे कुछ दिनों के लिए मुंबई …

डार्लिंग तुमको ऐसे ही चोदूंगा

Antarvasna रोशन और मैं स्कूल में साथ पढ़ा करते थे रोशन हमारे घर के पास में ही रहता है हम लोग हर शाम को मिलते जरूर हैं जब मुझे रोशन मिला तो रोशन ने मुझे कहा कि मैं तुम्हें एक बात बताना चाहता हूं। मैंने रोशन से कहा हां रोशन कहो ना तुम्हें मुझे क्या …