Category «अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज»

आपके प्यार ने अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ हिंदी सेक्सी स्टोरी साईट बना दिया है।
यहाँ आपके द्वारा भेजी रोमांटिक, सच्ची, कपोल कल्पित चुदाई की कहानी प्रकाशित होती हैं।

पड़ोसन के पति को फंसाकर चूत और गांड मरवायी

नमस्कार मित्रो … मैं बिंदू देवी आज फिर से अपनी सेक्स कहानी ले कर आई हूं. मेरी पिछली कहानी पड़ोस का यार चोदे दमदार विक्की जी ने लिखी थी. अब मैं अपनी कहानी खुद लिखूंगी. जैसा कि आप लोग पिछली कहानी में पढ़ चुके हैं कि मैंने अपने पड़ोसी संतोष जी से खुल के ऐश …

बीवी, बहन और कमसिन साली मेरी चुदाई का संसार

आप सभी ने मेरी पिछली कहानी होली में चुदाई का दंगल पढ़ी होगी कि कैसे होली के इस दिन पर हम ताश खेलते हुए मैं अपनी हॉट, मॉडर्न ख्यालात वाली बहन की घमासान चुदाई करता हूं. उसके साथ में अपनी हॉट साली की भी चुदाई करता हूं. आपको बता दूँ कि वो दोनों इतनी हॉट …

दोस्त बोले भाभी मान जाओ

hindi sex story सुबह उठते ही मैंने जब खिड़की खोली तो बाहर हल्का अंधेरा था और पक्षी चहचा रहे थे मैंने सोचा छत पर चलती हूं। मैं सीढ़ियों से चढ़ती हुई छत पर गई तो मैंने देखा मौसम काफी सुहाना था और आसमान बिल्कुल साफ था लेकिन उस दिन पक्षियों की चहचहाहट कुछ ज्यादा ही …

कविता के मुंह में ही वीर्य डाल दिया

Antarvasna, hindi sex stories अपने दफ्तर पहुंचने के लिए देरी हो रही थी तो मैंने अपने मोटरसाइकिल को 60 के ऊपर दौड़ाना शुरू किया हालांकि यह नियमों का उलंघन था लेकिन मुझे ऑफिस भी समय पर पहुंचना था। उसी के चलते मैंने मोटरसाइकिल को तेजी से दौड़ाया तभी सामने एक तेज रफ्तार बस को आता …

एक अनजानी प्यासी भाभी से दोस्ती

दोस्तो, यह कहानी एक मित्र ने मेरी कहानियां पढ़ने के बाद मुझे भेजी है और गुज़ारिश की है कि उसके इस अनुभव को मैं आपके सबके साथ शेयर करूं. ये कहानी मैं उसकी ही भाषा में लिख रहा हूँ. मेरे इस पाठक मित्र का नाम अजय है. हैलो, मेरा नाम अजय है और मैं नियमित …

बहन के बेटे को सेक्स ज्ञान

नमस्कार दोस्तों मै सलोनी आज आपके सामने एक कहानी लेकर हाजिर हूं। यह कहानी मेरी और मेरे बहन के बेटे की है। इस कहानी में पढिए किस तरह से मैने अपनी हवस की प्यास को बुझाने के लिए अपनी बहन के बेटे का इस्तेमाल किया। मैने उसे चुत चुदाई का ज्ञान देकर उससे अपनी चुत …

मेरा सच्चा प्यार भाभी के साथ

मैं कोटा का रहने वाला हूँ. कहानी 4 साल पहले की है. हमारे पड़ोस में एक भाभी रहा करती थीं, वे मेरे समाज की नहीं थीं. उसका पति कोटा में नौकरी करता था. उसकी सास को में मौसी कहके बुलाता था. उनका घर पर ठीक ठाक था. भाभी की एक ननद थी, जो मुझे भैया …